PM Awas Yojana New List: सरकार घर बनाने के लिए लोगो को दे रही 2,50,000 रूपए, यहाँ देखें नई लिस्ट

PM Awas Yojana के अंतर्गत भारत सरकार ने वर्ष 2022 तक सभी बेघर लोगों को घर देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं। यदि आप भी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं, तो इसके आवेदन करने के लिए आपको नीचे दिये गये नियमों व शर्तों का पालन करना होगा। प्रधानमंत्री आवास योजना के नियम और शर्तें का प्रावधान हैं। PM आवास योजना स्कीम के अंतर्गत लोगों को अपने घर के विस्तार या उसमें सुधार करवानें के लिए ऋण प्राप्त करने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो इस बात का ध्यान रखे कि वह संपत्ति आवेदक या उनकी पत्नी के नाम अथवा संयुक्त रूप से दोनों के नाम होना जरूरी है।

इसके अलावा यदि उम्मीदवार EWS श्रेणी का हैं तथा आप एक नई संपत्ति खरीदना चाहते हैं, तो उसका मालिकाना हक महिला का हो। यदि आप बहुत कम आमदनी की श्रेणी में आते हैं, तो आपकी परिवार की सालाना आय 3 लाख रूपये से अधिक नहीं हो। यदि आप लोअर आमदनी की श्रेणी में आते हैं, तो आपके परिवार की सालाना आय 6 लाख रूपये से अधिक नहीं होनी चाहिये। जमीन या प्लाट की ​निरंतर बढ़ती हुई कीमतों के कारण आजकल एक निम्न और मध्यम आय वाले व्यक्ति के लिए स्वयं का मकान बनाना या खरीदना बहुत मुश्किल हैं।

PM Awas Yojana List

Free Laptop Yojana

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज (PM Awas Yojana Important Documents)

  1. मतदाता कार्ड
  2. आवेदक का आधार कार्ड
  3. क्रेडिट कार्ड
  4. बैंक पासबुक
  5. पासपोर्ट साइज फोटो
  6. सरकार द्वारा जारी किये गये अन्य डाक्यूमेंट आदि।

प्रधानमंत्री आवास योजना के नियम और शर्तें (PM Awas Yojana Rules)

  1. किसी अन्य योजना द्वारा घर बनाने के लिए पैसा नहीं मिला हो।
  2. आवेदक के परिवार के नाम किसी और स्थान पर पक्का घर नहीं होना चाहिये।
  3. आवेदक के घर का क्षेत्रफल 200 वर्गमीटर से अधिक न हो।

प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरूआत 20 नवम्बर 2016 को की गई। प्रधानमंत्री आवास योजना का लक्ष्य 2022 तक सभी बेघर लोगों को स्वयं का पक्का मकान उपलब्ध कराना था। पीएम आवास योजना को दो कैटेगरी में वर्गीकृत किया गया हैं।

  1. पीएम शहरी आवास योजना
  2. पीएम ग्रामीण आवास योजना

प्रधानमंत्री आवास योजना का लक्ष्य-

अभी हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने साल 2022-23 के लिए बजट पेश किया है, जिसमें पीएम आवास योजना के माध्यम से लगभग 80 लाख आवास बनाने को कहा गया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा हैं, कि पीएम आवास योजना के आवंटन के लिए 48 हजार करोड़ रूपये का आवंटन केंद्र सरकार के द्वारा किया गया हैं।

सरकार 2022-23 में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के लिए पीएम आवास योजना के माध्यम से स्कीम का संचालन 2015 से जारी है, जिसके माध्यम से अभी तक करोड़ो लोगों को रहने के लिए घर मुहैया कराया जा चुका हैं। यह योजना 2-2 साल के 3 चरणों में लागू की जा रही हैं। वर्तमान समय में योजना का तीसरा एवं अंतिम चरण चल रहा हैं। पीएम आवास योजना के तीसरे चरण की शुरूआत 1 अप्रैल, सन् 2019 से की गई थी। पीएम आवास योजना के लिए आवेदन की अंतिम तिथि – 31 मार्च, 2022 निर्धारित की गई है।

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए पात्रता मापदंड (PM Awas Yojana – Eligibility Criteria)

पीएम आवास योजना में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, बंधुआ मजदूर, गरीबी रेखा से नीचे आने वाले लोग, पूर्व सैनिक, दिव्यांग व्यक्ति आदि पात्र हैं।

चयन प्रक्रिया (PM Awas Yojana – Selection Process)

इस योजना के लिए पात्रता रखने वाले लोगों का चयन तीन मापदण्डों के आधार पर किया जाएगा-

  • ग्रामसभा
  • जियो टैगिंग
  • सामाजिक एवं आर्थिक जाति जनगणना 2011

पीएम आवास योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आप पीएम आवास योजना की बेवसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको किसी सरकारी कार्यालय में बार- बार जाने की आवश्यकता नहीं हैं। आवेदन के लिए निम्न प्रक्रिया का पालन करे।

  • सर्वप्रथम पीएम आवास योजना की ऑफिशियल बेवसाइट पर जाए। पीएम आवास योजना की ऑफिशियल बेवसाइट का नाम- pmayg.nic.in
  • आपके सामने बेवसाइट का होम पेज खुलेगा,जिसमें ऑनलाइन अप्लाई के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इसमें आवेदन में मांगी गई समस्त जानकारी को सावधानीपूर्वक भरें, जैसे- आवेदक का नाम , पिता का नाम ,राज्य का नाम, जिला, तहसील, बैंक अकाउंट नम्बर, आधार कार्ड नम्बर, मोबाइल नम्बर इत्यादि। तत्पश्चात सबमिट ऑप्शन पर क्लिक करें।

इस योजना में ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए 1 लाख 30 हजार रूपए एवं शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए 1 लाख 20 हजार की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती हैं।

प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत आने वाली कुल लागत को केंद्र व राज्य सरकारों के माध्यम से 60:40 के हिस्से में वहन किया जायेगा। इस योजना का मुख्य निर्धारित लक्ष्य सभी गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वालेे मजदूरों व कच्चे घरों में रहने वाले लोगों के लिए बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध कराने के लिए सुरक्षित पक्का आवास उपलब्ध कराना हैं। सभी मूलभूत सुविधाएँ जैसे पीने के लिए साफ पानी, सभी गाँवों तक बिजली कनेक्शन की पहॅुंच सुनिश्चित हो सके।

Leave a Comment